भूल जाएँगे एग्जि’ट पोल, बिहार में आने जा रहा है ये रिज़ल्ट, भाजपा को होगा भारी नुक़सान

0
4

लोकसभा के लिहाज़ से बिहार काफी महत्वपूर्ण राज्य माना जाता है. यहाँ लोकसभा की 40 सीटें हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में यहाँ से भाजपा को बड़ी जीत हासिल हुई थी. पिछले चुनाव में भाजपा को 22 और लोजेपा को 6 सीटें मिली थीं जबकि रालोसपा को ३ सीटें मिली थीं तब ये तीनों NDA का हिस्सा थीं जबकि राजद को महज़ 4 और एनसीपी को एक सीट मिली थी. वहीँ कांग्रेस को भी दो सीटें मिली थीं. पिछले चुनाव में जदयू को २ सीटें मिली थीं.

इस बार जदयू भाजपा के खेमे में आ गई है तो रालोसपा, हम VIP जैसी पार्टियाँ महागठबंधन के साथ आ गई हैं. कांग्रेस के समर्थन से राजद के नेतृत्व वाला महागठबंधन मज़बूत दिख रहा है. बिहार में क्या स्थिति रहने की संभावना है हम आपको बताने जा रहे हैं. राजद के बारे में अनुमान लगाया जा रहा है कि ये राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरेगी. राजद 12 से 14 सीटें जीत सकती है.

कांग्रेस भी 3 से 5 सीटें जीत सकती है जबकि रालोसपा 2, हम 1 से 2 ,और VIP 1 से 2 सीट जीत सकती है. इस तरह से UPA 19 से 25 सीटें जीत सकती है. दूसरी ओर NDA को भारी नुक़सान होने की उम्मीद है. NDA 14 से 20 सीटें जीत सकती है. बेगुसराय की सीट पर कन्हैया कुमार सीपीआई के टिकट पर चुनाव जीत सकते हैं.

बिहार में भाजपा और जदयू को बड़े फ़ायदे की उम्मीद थी पर ऐसा नहीं लग रहा है. सबसे बड़ा नुक़सान लोजेपा को होने की उम्मीद है. लोजेपा के बारे में अनुमान है कि पार्टी इस बार खोलने से भी चूक सकती है. वहीँ भाजपा 8 से 10 सीट जीत सकती है, जदयू भी 6 से 10 सीटों तक जीत सकती है. अगर यही रिजल्ट भी आते हैं तो भाजपा के लिए बिहार से किसी तरह की अच्छी ख़बर नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here