शादीशुदा महिला को अकेले घर बुला रहा था थाना प्रभारी, क्लिप वायरल होने पर मची खलबली!

0
3

55 वर्षीय एसएचओ साबिर मोहम्मद की पत्नी जब बाजार में सामान खरीदने गई, तो उसने अपनी प्रेमिका (विवाहित महिला) को फोन कर 5 मिनट के लिये ही सही घर आने का न्योता दिया।

New Delhi, Nov 11 : राजस्थान के जालौर जिले के जसवंतपुरा पुलिस थाने में तैनात एसएचओ पर इश्क का ऐसा रंग चढा कि उसने सुप्रीम कोर्ट और राज्य सरकार की गाइडलाइन को दरकिनार कर दिया, सारे नियम-कायदों को दरकिनार करते हुए इस थाना अधिकारी ने अपनी प्रेमिका के घर पर मकान बनाने के लिये प्रतिबंधित बजरी से भरे ट्रैक्टर ट्रॉली भिजवा दिये, वो भी रात के अंधेरे में नहीं बल्कि दिन के उजाले में, बजरी के ट्रक भेजने को लेकर थाना अधिकारी तथा उसकी कथित प्रेमिका के बीच मोबाइल पर हुई बातचीत पिछले दो दिन से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद मामले का खुलासा हुआ।

घर आने का न्योता
55 वर्षीय एसएचओ साबिर मोहम्मद की पत्नी जब बाजार में सामान खरीदने गई, तो उसने अपनी प्रेमिका (विवाहित महिला) को फोन कर 5 मिनट के लिये ही सही घर आने का न्योता दिया, इस प्रकरण का ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तो पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने थाना अधिकारी साबिर मोहम्मद को निलंबित कर दिया, पुलिस अधीक्षक का कहना है कि ऑडियो क्लिप सामने आया है, इसी के आधार पर मामले में जांच का आदेश देकर थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है।

क्लिप से खुलासा
ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद मामले का खुलासा हुआ है, प्रदेश में इस घटना की जबरदस्त चर्चा हो रही है, पुलिस इस मामले की हर पहलू से जांच कर रही है,  जांच पड़ताल के बाद ही इस बात का खुलासा हो पाएगा, कि सच क्या है। आपको बता दें कि राजस्थान में पुलिस वाले को तनाव से बचाने के लिये हेल्पलाइन शुरु की गई है।

हेल्पलाइन
जयपुर स्थित पुलिस मुख्यालय से पुलिस वालों को जरुरत के हिसाब से हेल्पलाइन से तनाव से बचने को लेकर उपाय बताये जाएंगे, उन्हें बताया जाएगा कि लंबी ड्यूटी करने तथा परिवार से दूर रहने के बावजूद वो कैसे तनाव से दूर रह सकते हैं, इसके साथ ही पुलिस वालों के बच्चों के लिये निशुल्क ऑनलाइन कोचिंग का प्रबंध किया गया है, पुलिस वालों को तनाव से बचाने तथा उनके बच्चों के लिये निशुल्क कोचिंग आरंभ करने को लेकर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र दक ने सभी पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here