दिल्ली पुलिस में हैं पिता, बेटी ने IAS बनकर किया अपने पिता का नाम रौशन

0
3




आज हम आपको एक ऐसी लड़की की कहानी बताने जा रहे हैं जिसे सुन कर के आप काफी ज्यादा प्रेरित हो जायेंगे, यह लड़की और कोई नई दिल्ली पुलिस एसआई की बेटी है। उन्होंने अपनी बेटी को नम आंखों से सैल्यूट भी किया है।
हम आपको बता दें कि 2019 में हुई यूपीएससी परीक्षा का रिजल्ट अगस्त 2020 में आया था। वहीं इस साल कई मामलों में लड़कियों ने बाजी मारी है।

दोस्तों, आज हम आपको एक ऐसे आईएएस ऑफिसर की कहानी सुनाने जा रहे हैं जिनके पिता दिल्ली पुलिस में ASI हैं। उस लड़की का नाम विशाखा यादव है।

विशाखा ने 2019 यूपीएससी परीक्षा में 6 रैंक की थी। इसके पहले दो बार विफल हो चुकी है लेकिन तीसरे टाइम में उन्होंने अपना और अपने परिवार का नाम रोशन किया है। उनकी चर्चा में आने की खास बजाया है कि उनके पिता दिल्ली पुलिस में एएसआई के पद पर हैं यानी कि assistant Sub Inspector के पद पर तैनात हैं। चलिए जानते हैं इन बाप बेटी की सफलता की कहानी को।

विशाखा यादव की आईएएस बनने की कहानी उनके पिता के प्रति प्रेम और सच्चे समर्पण को दर्शाती है। विशाखा ने अपने पिता के अधूरे सपने को पूरा किया है उनके पिता नम आंखों से उन्हें सेल्यूट किये थे।

विशाखा यादव की पढ़ाई, घर और परिवार:

विशाखा यादव दिल्ली की निवासी है। इन्होंने बचपन से ही दिल्ली में रहकर पढ़ाई की है। 12वीं के बाद ग्रेजुएशन की पढ़ाई दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग से की है। या बेंगलुरु में रहकर के 2 साल जॉब भी कर चुकी है। इसी दौरान वह यूपीएससी की तैयारी करती थी। विशाखा के पिता का नाम राजकुमार यादव है। वह द्वारिका थाने में एएसआई की पोस्ट पर है। उनके परिवार में लगभग सभी सरकारी नौकरी से जुड़े हुए हैं जिनके कारण उन्हें यूपीएससी में सफल होने की प्रेरणा मिली। उन्होंने दसवीं के बाद से ही तय कर लिया था कि वह सिविल सेवा में जाना है। बाद में वह जो कुछ छोड़ कर के यूपीएससी की प्रिपरेशन में लग गई।

विशाखा के पिता का कहना है कि उनकी बेटी यह मुकाम तीसरी बार में प्राप्त कर सके उसने परीक्षा में सफल होने के लिए कोचिंग भी ज्वाइन की थी और वह पूरा दिन लाइब्रेरी में जाकर पढ़ती थी और रात को घर वापस आती थी।

पिता ने खुशी से थाने में बटवाई मिठाई:

जब विशाखा की कामयाबी सबको पता चला तब उन्हें रिश्तेदारों और दोस्तों से काफी मात्रा में बधाई मिली। पिता ने पूरी थाने में मिठाई बनवाई और उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वहीं डीएसपी ने भी उन्हें बधाई दी। इसके बाद दिल्ली के राज्यपाल ने भी विशाखा को बधाई दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here