#LaxmiiMovieReview: अक्षय-कियारा की हॉरर-कॉमेडी फ़िल्म ‘लक्ष्मी’ को देख बोले यूज़र्स ‘डिप्लोमेटिक’

0
16

कोरोना महामारी के चलते पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है, ऐसे में सभी सिनेमा हॉल भी बंद है और कई ऐसे प्लेटफार्म बंद किये गए हैं जहाँ लोगों का बहुत आना-जाना हो. बॉलीवुड की बात करें, तो साल 2020 एक तरह से लोगों की ज़िन्दगी में काल बनकर आया है, तो वहीँ इस साल बॉलीवुड में कुछ लोगों के लिए यह साल खुशियों भरा भी रहा है.

बता दें, 2020 में कई बड़ी स्टार कास्ट वाली फिल्मों को सीधे स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म पर आने के लिए मजबूर होना पड़ा है. इसी बीच बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार और कियारा आडवाणी की फिल्म लक्ष्मी को सोमवार के दिन शाम 7 बजे दिवाली वीक में डिज़्नी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज़ किया गया.

अगर कोरोना जैसी महामारी नहीं आई होती, तो दर्शक अक्षय की फिल्म लक्ष्मी को बहुत पहले ही मई के महीने में ईद पर देख चुके होते. मगर कोरोना के संक्रमण के लगातार बढ़ने के चलते इस फिल्म की रिलीज़ डेट को पोस्टपोन करना पड़ा.

Social Media

बता दें, राघव लॉरेंस के डायरेक्शन में बनी यह फिल्म लक्ष्मी, साउथ की बनी फिल्म कंचना का रीमेक है. अक्षय कुमार द्वारा प्रोडूस की गई यह फिल्म फॉक्सस्टार स्टूडियो, तुषार कपूर और केप ऑफ गुड फिलंम बैनर तले बनी है.

दर्शको का इस फिल्म को लेकर अलग ही रिस्पांस देखने को मिल रहा है. कुछ इसका मज़ाक उड़ा रहे हैं, तो कुछ इस फिल्म के कॉमेडी सीन्स की तारीफ भी कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर इस फिल्म का एक तरह से बहिष्कार किया गया है. यहां तक की यूज़र्स ने तो इस फिल्म को अब तक की सबसे घटिया फिल्म तक कह दिया. आइये देखते हैं दर्शकों के रिएक्शंस…

Social Media
Social Media

फिल्म लक्ष्मी ट्रांसजेंडरों पर इस समाज की सोच को दर्शाती है. यह एक हॉरर-कॉमेडी फिल्म है. यह फिल्म ट्रांसजेंडरों की सहज स्वीकार्यता संवेदनशील मुद्दे को रेखांकित करती है, मगर इन मुद्दों और संदेशो के बीच फिल्म की पूरी कहानी समझ पाना आसान नहीं है और यही से इस फिल्म के डगमगाने की शुरुवात होती है.

इस फिल्म की कहानी, कुछ इस तरह से है- लक्ष्मी, हरियाणा के रेवाड़ी में रहने वाली हैं. यह फिल्म आसिफ़ और रश्मि की कहानी है, जिन्होंने प्रेम विवाह किया है और यह दोनों साथ में बहुत खुश हैं. इन दोनों के साथ आसिफ़ का भतीजा शान भी रहता है, जिसके माता-पिता कुछ समय पहले ही किसी हादसे में मारे गए थे. बता दें, आसिफ़ टाइल्स और मार्बल का बिज़नेस करता है और उसे भूत-प्रेत में किसी भी तरीके का विशवास नहीं है. साथ ही आसिफ़ अंधविश्वास को दुनिया से भगाने जैसी संस्था भी चलाता है.

Social Media

रश्मि के पिता दूसरे मजहब में शादी करने को लेकर उससे नाराज़ होते हैं, जिसके चलते रश्मि शादी के तीन साल बाद भी अपने मायके उनसे मिलने नहीं जाती हैं मगर रश्मि की शादी की 25वीं सालगिरह पर वह अपनी माँ के बुलाने पर घर बुलाती हैं मगर आसिफ़ से नाराज़गी के चलते रश्मि के पिता उससे बात करना ज़रूरी नहीं समझते.

ऐसे में रश्मि के मायके वाले घर के पड़ोस में ही एक खाली प्लाट है, जिसमे भूत- प्रेत का साया है. लोगों के लाख समझने पर भी आसिफ़ बच्चों को भूत प्रेत जैसा कुछ नहीं होता है कहकर उन्हें उस प्लाट में ले जाता है.

इसके बाद इस फिल्म की कहानी एक अलग ही मोड़ ले लेती है और सुपरनैचरल पॉवर जैसा खेल शुरू हो जाता है. आसिफ़ के अंदर एक आत्मा का साया होता है जो की एक किन्नर का होता है. रश्मि की माँ के घर की पूजा करवाने पर पता लगता है कि इस घर में भूत प्रेत का साया है.

इधर… आसिफ़ के औरतों वाले शोक शुरू हो जाते हैं और होश आने पर वह कुछ याद न होने का स्वांग भी रचते हैं. कुछ घटना क्रम के बाद आसिफ़ के अंदर प्रवेश करने वाली रूह बताती है कि वह लक्ष्मी किन्नर है और अपना बदला लेने आई है.

Social Media

रश्मि के परिवार वालो को आसिफ़ के अंदर से भूत प्रेत का साया हटवाने के लिए एक पीर बाबा की मदद लेनी पड़ी, तब सभी को लक्ष्मी की स्टोरी पता चलती है कि कैसे एक भूमाफिया ने लक्ष्मी कि ज़मीन पर कब्ज़ा किया और कैसे अपने परिवार के साथ मिलकर लक्ष्मी और उसे बचपन में शरण देने वाले चाचा और उनके मंदबुद्धि बेटे का क़त्ल कर दिया था, जिनसे बदला लेने के लिए लक्ष्मी ने आसिफ़ के शरीर में प्रवेश किया.

Social Media

इसी के साथ इस फिल्म की पूरी कहानी लक्ष्मी के बदले के इर्द गिर्द फोकस हो जाती है और अंत में आसिफ़, लक्ष्मी की आत्मा से छुटकारा पा ही लेता है. आसिफ़, लक्ष्मी की कहानी सुनकर बहुत भावुक हो जाता है कि क्लाइमेक्स में उसका बदला पूरा करने के लिए एक महतवपूर्ण कदम उठाता है.

इस फिल्म में रही कमियों को अक्षय ने बतौर एक्टर इसे अपनी ऊर्जा से भरने कि कोशिश की है और इस फिल्म को दर्शको के देखने लायक बनाया है वहीं कियारा इस फिल्म में बहुत खूबसूरत दिखाई दे रही हैं. हालांकि दर्शकों के इस फ़िल्म को लेकर रिव्यु अच्छे नहीं रहे हैं, मगर फिरभी अगर ओवर ऑल परफॉरमेंस की बात की जाए तो बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छी रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here