रेल में यात्रा करने वालो के लिये आया नया नियम, पालन न करने वालो को 5 साल तक की सजा

0
3

कई महीनो तक बंद रहने के बाद में भारतीय रेलवे अब धीरे धीरे करके पटरी पर दौड़ रहा है और अर्थव्यवस्था भी अपनी प्रगति पकड़ रही है. देश में अभी कई सैकड़ो की संख्या में ट्रेने चल रही है लेकिन स्थिति को तो हम सब जानते ही है कि करोना नाम की ये दिक्कत अभी भी खत्म नही हुई है और इस कारण से लोगो के बीच स्थिति को कण्ट्रोल में रखने के लिए रेल से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक नया नियम आया है जो आपके लिए भी जान लेना काफी अधिक जरूरी है.

अभी के नए नियम के अनुसार अगर कोई व्यक्ति मास्क नही पहनता है, रेलवे में यात्रा के समय सोशल डिस्टेंस का पालन नही करता है, करोना संक्रमित होने के बावजूद यात्रा करता है या फिर जिसका सेम्पल शक के आधार पर लिया गया है अरु फिर भी वो रिपोर्ट आने से पहले यात्रा यात्रा करता है.

ऐसी सभी स्थितियों में व्यक्ति को कुल पांच साल तक की सजा दी जा सकती है. ये सजा का प्रावधान रेलवे एक्ट 1989 के तहत किये गये है जो काफी पुराना क़ानून है लेकिन काम अब आ रहा है. इन सबके अलावा अगर कोई व्यक्ति ट्रेन में या स्टेशन पर थूकते हुए पाया जाता है या फिर जो निर्देश बताये जा रहे है उनका पालन न करते हुए पकड़ा जाता है तो फिर उसके लिए भी काफी बड़े जुर्माने का प्रावधान किया गया है.

अब तक इन नियमो का इस्तेमाल जो रेलवे की सम्पति को नुकसान पहुंचाते थे उनके खिलाफ किया जाता था लेकिन अब इन नियमो को करोना गाइडलाइन के साथ में भी जोड़ दिया गया है और इससे शायद आम लोग लोगो के लिए रेलवे में सफ़र करना पहले की तुलना में थोडा अधिक सुरक्षित भी हो ही जाएगा, हालांकि अभी भी समय है कि आगे क्या स्थिति देश में बनती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here