CM योगी ने मांगी थी 1000 बसों की लिस्ट, कांग्रेस ने जो दी उसमें बाइक-ऑटो के भी नंबर, वायरल हुई सूची


 

लखनऊ (Uttar Pradesh)। प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस की ओर से भेजी गई बसों की लिस्ट से नया मुद्दा सामने आ गया है। कांग्रेस की ओर से मुहैया कराई गई 1000 बसों की लिस्ट में कई नंबर कार, बाइक और ऑटो के निकल रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल लिस्ट में आटो, कार, प्लेटिना बाइक तक के नंबर हैं,जिसके बाद तरह-तरह के सवाल खड़े होने लगे हैं। वहीं, सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि प्राथमिक जांच में कांग्रेस की बसें ऑटो मैजिक निकली हैं। उनका दावा है कि इसकी जांच भारत सरकार के पोर्टल पर की गई है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी सरकार को मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए कांग्रेस की ओर से 1000 बसें देने की पेशकश की थी।
इसे सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्वीकार कर लिया था और प्रियंका गांधी को बसों की लिस्ट राज्य सरकार को सौंपने को कहा था।

अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने दावा किया है कि इस लिस्ट में घालमेल है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि प्राथमिक जांच में कांग्रेस की बसें ऑटो मैजिक निकली हैं. उनका दावा है कि इसकी जांच भारत सरकार के पोर्टल पर की गई है।

10 नंवबर 2016 को रजिस्टर हुई वाहन संख्या यूपी83टी1006 की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा है कि ये बस नहीं बल्कि एक थ्री व्हीलर है।

अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने दावा किया है आरजे14टीडी1446 एक बस न होकर कार है। दो तीन और वाहनों के साथ भी ऐसा ही मामला है।

अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने दावा किया है एक और वाहन का जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी85टी6576 है। जांच करने पर ये वाहन स्कूटर है और ये वाहन पेट्रोल से चलती है।

एक नंबर यूपी 83 T 1106 के मालिक का नाम इरशाद है और वाहन थ्री व्हीलर बता रहा है। यही नहीं एक और नंबर यूपी 85 T 65 76 प्लेटिना बाइक मालिक जितेंद्र कुमार बताया जा रहा है।

यूपी के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की तरफ से आज प्रियंका गांधी के निजी सचिव को एक और पत्र भेजा गया है। इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि आपके पत्र के अनुसार आप लखनऊ में बस देने में असमर्थ हैं और नोएडा, गाजियाबाद बॉर्डर पर ही बस देना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में कृपया जिलाधिकारी, गाजियाबाद को 500 बसें 12 बजे तक उपलब्ध कराने का कष्ट करें।

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने डीएम गाजियाबाद को निर्देशित किया गया है कि गाजियाबाद में जिला प्रशसन द्वारा सभी बसों को रिसीव किया जाएगा और इनका उपयोग किया जाएगा। कृपया गाजियाबाद में कौशाम्बी बस अड्डा और साहिबाबाद बस अड्डे में बसें उपलब्ध कराने का कष्ट करें।

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने आगे लिखा है कि इसके अलावा अलावा 500 बसें नोएडा में जिलाधिकारी, गौतमबुद्धनगर को एक्स्पो मार्ट के निकट ग्राउंड पर उपलब्ध कराने का कष्ट करें। डीएम बसों का परमिट, फिटनेस, इंश्योरेंस आदि के कागजात और चालक के लाइसेंस व कंडक्टर के कागजात चेक कर बसों का उपयोग तत्काल करेंगे, ये निर्देश दिए गए हैं।