विस्फोट से हिला उत्तर प्रदेश, जानिए कहाँ हुई घटना

0
13

यूपी के मेरठ में रसूलपुर में धमाके से भूचाल सा आता नजर आया। जिसके बाद से तहलका मच गया। यहां निसार के मकान में जोरदार धमाके की आवाज दो ढाई किलोमीटर दूर तक महलका, बातनौर और अन्य कई गांवों तक सुनाई दी। बता दें कि ऐसे में गांव वालों का कहना था कि ऐसा धमाका पहले कभी नहीं सुना। यहां पर घटनास्थल पर मौजूद महलका आदि गांवों के गांववालों ने कहा कि ऐसा धमाका पहले कभी नहीं सुना। जो ये हुआ है।

पुलिस पर आरोप

ऐसे में फलावदा पुलिस पर घटना स्थल पर दो घंटे से देरी से पहुंचने का आरोप लगा है। जिसके चलते कुछ लोगों ने जमकर हंगामा भी किया है। आपको बता दें कि इसके बाद में इंस्पेक्टर मवाना प्रेमचंद, हस्तिनापुर इंस्पेक्टर अशोक, बहसूमा एसओ शिवदत्त सहित कई थानों की पुलिस के साथ एसडीएम सरधना अमित भारतीय, सीओ मवाना उदय प्रताप सिंह भी पहुंचे।

मेरठ के रसूलपुर में विस्फोट की घटना के होने पर हिदू संगठन के लोगों ने आक्रोश जताते हुए गांव में पटाखा बनाये जाने की बात कही और पुलिस प्रशासन पर हादसे पर पर्दा डालने का आरोप भी लगाए। साथ ही कहा है कि इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी है।

उच्च स्तरीय जांच की मांग

हालाकिं बजरंग दल के विभाग संयोजक मिलन सोम समेत आदि हिदू संगठनों के लोग मौके पर पहुंचे और धमाकों को बारूद से होने की बात कहते हुए उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

बता दें कि फिलहाल रसूलपुर गांव में हुए विस्फोट का कारण पुलिस सिलेंडर के फटने को मान रही हो और बारूद को लेकर जांच की बात कह रही है। लेकिन मौके पर मलबे के नीचे रुक रुककर हो रहे धमाके बारूद की तरफ साफ-साफ इशारा कर रहे थे।

रुक-रुककर धमाके होते रहे

साथ ही पुलिस अधिकारियों के सामने भी मलबे के अंदर से कई बार धमाके हुए। ऐसे में पुलिस उन स्थानों को भी अनदेखा करती रही। ऐसे में ये घटना शाम करीब साढ़े सात बजे की थी, लेकिन मध्यरात्रि तक भी रुक-रुककर धमाके होते रहे। मलबे में पटाखों के रेपर भी पड़े थे।

बता दें घटनास्थल पर आइजी प्रवीण कुमार भी पहुंचे, लेकिन उन्होंने बारूद से हादसा होने की बात को पूरी तरह खारिज नहीं किया। हालांकि उन्होंने एसएसपी की तरह ही प्रथम दृष्टया सिलेंडर फटने की ही बात कही।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here