ओडिशा: 6वीं की छात्रा 10 किमी चलकर पहुंची DM ऑफिस, कलेक्टर से की शिकायत, जानिये क्यों?

0
3

ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले की छठीं कक्षा में पढ़ने वाली एक बच्ची ने अपने ही पिता के खिलाफ शिकायत की…बता दें, बच्ची 10 किमी पैदल चलकर डीएम ऑफिस पहुंची और उसने अपने लालची पिता को लेकर कहा कि वह उसके स्कूल से मिलने वाले मिड डे मील के पैसे और राशन सब हड़प लेते हैं.

बच्ची की शिकायत सुनते ही डीएम समर्थ वर्मा ने अपने सभी अधिकारीयों को आदेश देते हुए कहा कि सभी इस बात का ध्यान रखें कि अब से बच्ची के अकाउंट में ही उसे पैसे दिए जाए और उसके पिता के छीने सभी पैसे और राशन बच्ची को वापस दिलवाया जाए.

हालांकि, बच्ची के पास अपना खुद का खाता भी है.. इसके बावजूद मिड डे मील के लिए मिलने वाली रकम उसके पिता के खाते में जाती रही. बच्ची अपने पिता के साथ नहीं रहती है और उसे मिलने वाला राशन (चावल) भी पिता जाकर लेता रहा. जब मना करने के बाद भी पिता ने उसकी एक ना मानी तो, बच्ची ने खुद ही यह कदम उठाया और कलेक्टर से इतनी दूर पैदल चलकर शिकायत करने निकल पड़ी.

Social Media

बता दें, इस मासूम बच्ची की मुश्किलें तब शुरू हुई जब उसकी मां की मौत के बाद पिता ने दूसरी शादी कर ली थी और बच्ची अपने एक अंकल के साथ रहने लगी.

कोरोना जैसी महाबीमारी के चलते देश-भर में लॉकडाउन जैसा माहौल बना रहा और सभी स्कूलों को भी बंद कर दिया गया था. ऐसे में सरकार ने बच्चों के लिए 8 रूपए की एक रकम तैयार की जो उन्हें रोज़ उनके खाते में भेजी जाने वाली थी. अगर किसी बच्चे के पास उसका खुद का खाता नहीं है तो यह रकम उसके परिवार के किसी सदस्य के खाते में भेजने का नियम बनाया गया था. इसके साथ ही 150 ग्राम प्रतिदिन चाव

Social Media

बच्ची की पिता के खिलाफ की गई शिकायत के चलते केंद्रपाड़ा के कलेक्टर समर्थ वर्मा ने तुरंत कार्रवाई की और स्कूल के हेडमास्टर को भी आदेश दिया गया कि अब से मिड डे मील के तहत मिलने वाला राशन बच्ची के सिवा किसी और को न दिया जाए.

साथ ही अपने अधिकारीयों को भी आदेश दिया कि अब से रोज़ मिलने वाली रकम को भी बच्ची के खाते में जमा किया जाए भी देना तय किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here