यूपी में शादियों के लिए नई गाइडलाइन जारी, जानिये क्या-क्या रखनी होगी सावधानी

0
12

यूपी में योगी सरकार ने शादी समारोह के लिए सोमवार को नई गाइडलाइंस जारी की है। अब प्रदेश में शादी-विवाह व धर्म-कर्म समेत सभी सामूहिक समारोहों में अधिकतम 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे। इसी के तहत उत्तर प्रदेश में कोरोना (COVID-19) के बढ़ते मामलों के बीच अब सरकार ने शादियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है।

उत्तर प्रदेश सरकार की एडवाइजरी

सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के मुताबिक, अब शादी में सिर्फ 100 लोगों को शामिल होने की इजाजत मिलेगी। 100 लोगों के क्षमता वाले मैरिज होम में एक बार में 50 लोग के शामिल होने की मंजूरी दी गई है।

कन्टेनमेंट जोन के बाहर सभी सामाजिक, शैक्षिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक व राजनीतिक कार्यक्रमों समेत अन्य सामूहिक गतिविधियों को इस शर्त पर अनमुति दी जाएगी कि किसी भी बंद स्थान जैसे हॉल या कमरे की निर्धारित क्षमता के 50 प्रतिशत किन्तु एक समय में अधिकतम 100 व्यक्ति ही मौजूद रह सकेंगे।

बुजुर्गों और बीमार लोगों के शादियों में शामिल होने पर रोक लगाया गया है। सरकार से साफ कर दिया है कि नियम तोड़ने पर मुकदमा भी दर्ज हो सकता है।

जानकारी के लिए बता दे, मुख्य सचिव आरके तिवारी ने सोमवार को इस संबंध में शासनादेश जारी किया। यह बंदिश दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर (नोएडा), गाजियाबाद और आगरा में पहले से ही थी और अब यह पूरे प्रदेश में लागू हो गई है।

इन कार्यक्रमों में फेस मॉस्क, सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर एवं हैंडवॉश की व्यवस्था अनिवार्य होगी। इसके साथ-साथ खुले स्थान जैसे मैदान आदि पर कुल क्षेत्रफल के 40 प्रतिशत से कम क्षमता तक ही लोगों के एकत्र होने की अनुमति होगी।

केंद्र सरकार की 30 सितंबर 2020 की गाइड लाइन के क्रम में मुख्य सचिव की तरफ से इस संबंध में पहली अक्टूबर 2020 को शासनादेश जारी किया गया था। कोरोना (कोविड-19) के मरीजों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए अब इसी आदेश में संशोधन किया गया है।

यूपी में 23,806 एक्टिव केस

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण विकराल रूप लेता जा रहा है। बीते 24 घंटे के दौरान यहां 35 लोगों की कोविड-19 से मौत हो गई। साथ ही 2,588 लोगों के पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में 2,558 नए मरीजों के कोविड-19 से पीड़ित होने की पुष्टि की गई।

जबकि इस समय प्रदेश में उपचार करवा रहे मरीजों की कुल संख्या 23,806 है, जिनमें से 10,902 होम आइसोलेशन में हैं, तो 2,356 प्राइवेट अस्पतालों में अपना इलाज करवा रहे हैं।

सहालग शुरू होने से खतरा बढ़ा

25 नवंबर से शादियों का मुहूर्त शुरू हो रहा है, जबकि सगाई आदि के कार्यक्रम शुरू हो गए हैं। जिलाधिकारियों की रिपोर्ट में कहा गया है कि भीड़ ज्यादा होने पर खतरा बढ़ने की आशंका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here