आखिरी बार श्रीदेवी की दीपिका पादुकोण से हुई थी बात, घर में इस चीज़ को लेकर थी काफी परेशान

0
16




सदी की महान अदाकारा जिसने अपने अभिनय से सबको दीवाना बना दिया था.उसका निधन दुबई की एक होटल में बाथटब में डूबने से हो गया था.वहां वो अपने भतीजे की शादी समारोह में शामिल होने गई थी.यह अदाकार दुनिया से चली गई लेकिन इसकी यादें आज भी उनके फैंस के दिल में है.जिसने अपने कैरियर को अपने मेहनत और अपने लगन के दम पर ऊंचाई पर पहुंचाया.हम बात कर रहे स्वर्गवासी एक्ट्रेस श्री देवी की.उनके पति बोनी कपूर द्वारा अपनी पत्नी महान अदाकारा श्री देवी पर एक किताब लिखी.इस किताब में श्री देवी की लाइफ की बायोग्राफी है.इसमें श्री देवी की लाइफ के उन अनछुए पहलुओं का भी जिक्र है जिनसे दुनिया आज भी बेखबर है.इस किताब के नाम “श्री देवी:गर्ल वूमेन सुपरस्टार” है.इस किताब के लॉन्चिग में दीपिका पादुकोण भी उपस्थित थीं.

बॉलीवुड इंडस्ट्री की महान अदाकार श्री देवी का निधन 24 फरवरी 2018 को हुआ था.उनके मौत का कारण पानी में डूबना बताया गया.श्री देवी फिल्म इंडस्ट्री की महान अभिनेत्री रही है.उन्होंने 90 के दश्क से अपने फैंस के मनोरंजन किया है.उनकी आकस्मिक निधन से पूरे बॉलीवुड नहीं वरन् समूचे देश में उनके फैंस को सदमा लगा था.किताब के विमोचन समारोह में बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण और मशहूर निर्देशक गौरी शिंदे शामिल हुई थी.दीपिका ने कहा कि में जब बॉलीवुड में आई थी तब मेरे लिए श्री देवी मैम और बोनी कपूर जी सर ने मेरा मार्गदर्शक किया.

उन्होंने मेरे हर पहलू को बेहतर किया और मुझे एक्टिंग के टिप्स दिए थे.वाकई में खुशनसीब हूं में श्री देवी मैम के साथ रही और कुछ समय बीता सकी.दीपिका पादुकोण ने ये भी बताया कि उनकी श्री देवी मैम की अंतिम बात हुई जिसमे उन्होंने घर में काम करने वाले नोकरो से चल रही गड़बड़ के बारे में बताया.आपको बता दे बोनी कपूर और श्री देवी की शादी 1996 में हुई थी.उनके 2 बच्चे है जानवी कपूर और खुशी कपूर.श्री देवी के बारे में कहा जाता है बॉलीवुड की पहली महिला सुपर स्टार और मेगा स्टार थी.

उन्होंने बॉलीवुड में पहली फिल्म सोला सावन 1979 में किया था. श्री देवी अपने कैरियर में 300 फिल्मों में अभिनय किया था. उनको 2013 में पदम् श्री दिया गया था.इसके अलावा उनकी आखिरी फिल्म मॉम के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड दिया गया था. आपको जानकारी के लिए बता दे श्री देवी को अफगानिस्तान का सबसे बड़ा सिविलियन अवॉर्ड भी दिया जा चुका है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here