जानिए अनोखी दोस्ती, साथ जिए और साथ ही मरे

0
13

बुधवार देर रात फगवाड़ा के शुगर मिल फ्लालओवर चौक पर हुए सड़क हादसे में जान गंवाने वाले कुनाल और पुलिकत बचपन के दोस्त थे। दोनों ने बचपन के लेकर जिदगी का आखिरी सफर साथ-साथ ही पार कर दिया। हादसे की सूचना मिलते ही दोनों परिवार के सदस्य फगवाड़ा के लिए रवाना हो गए।

आपको बता दें कि बंगाली मोहाल निवासी आलोक गुप्ता का नयागंज में किराने का कारोबार है। 16 नवंबर को आलोक गुप्ता की पत्नी शोभना गुप्ता बेटे ऋषभ गुप्ता के साथ कार से दिल्ली में एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गई थीं। वहीं पर उनका मां वैष्णो देवी जाने का प्लान बना। इसकी सूचना उन्होंने घर पर दी तो छोटा बेटा कुनाल गुप्ता बचपन के दोस्त इटावा बाजार निवासी राजकुमार गुप्ता के बेटे पुलकित गुप्ता के साथ 21 नवंबर को वंदेभारत एक्सप्रेस से दिल्ली चला गया था।  राज कुमार गुप्ता भी किराना कारोबारी हैं। वहां से चारों अपनी कार से मां वैष्णो देवी के दर्शनों लिए रवाना हुए। कार चलाने के लिए उन्होंने दिल्ली से ही एक ड्राइवर रख लिया था। राज कुमार गुप्ता ने बताया कि बुधवार की रात उनकी बेटे पुलकित से बात हुई थी। उस समय वह लोग कटरा पार कर चुके थे। रात डेढ़ बजे उन्हें हादसे की जानकारी मिली। हादसे की जानकारी मिलते ही आलोक गुप्ता, पुलकित का भाई आयुष कुछ रिश्तेदारों के साथ फगवाड़ा के लिए रवाना हो गए।

स्थानीय लोगों के मुताबिक पुलकित और कुनाल दोनों साथ-साथ पढ़े थे। दोनों में गहरी दोस्ती थी और अक्सर साथ ही रहते थे। इसीलिए मां वैष्णो देवी दर्शनों की बात सुनकर पुलकित भी कुनाल के साथ हो लिया था। वहीं हादसे की सूचना पर बंगाली मोहाल और इटावा बाजार दोनों ही मोहल्लों में शोक की लहर छा गई। राजकुमार गुप्ता ने बताया कि सूचना मिली है कि ऋषभ की हालत खतरे से बाहर है। ड्राइवर समेत शोभना, कुनाल और पुलकित की हादसे में मृत्यु हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here