Aaj Ka Panchang: जानिए आज का पंचांग, शुक्र प्रदोष आज, जानें मुहूर्त, राहुकाल एवं दिशाशूल

0
16

Panchang 27 November 2020: रोज की पंचांग आप को जरुर पढ़ना चाहिए। जिससे कई कामों पर ये असर डालता है। हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि और शुक्रवार दिन है। आज 27 नवंबर है। सुबह 7:47 बजे से त्रयोदशी तिथि प्रारंभ हो रही है। ऐसे में आज शुक्र प्रदोष व्रत है। शुक्र प्रदोष व्रत सुख और समृद्धि देने वाला होता है। आज प्रदोष काल में भगवान शिव और माता पार्वती की विधि विधान से पूजा करनी चाहिए। आज पूरे दिन सर्वार्थ सिद्धि योग है। वहीं रवि योग देर रात में प्रारंभ होगा। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग
दिन: शुक्रवार, कार्तिक मास, शुक्ल पक्ष, द्वादशी तिथि।
आज का दिशाशूल: पश्चिम।
आज का राहुकाल: प्रात: 10:30 बजे से 12:00 बजे तक।
आज का पर्व एवं त्योहार: प्रदोष।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 दक्षिणायन, दक्षिणगोल, शरद ऋतु कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की द्वादशी 07 घंटे 47 मिनट तक, तत्पश्चात् त्रयोदशी अश्वनी नक्षत्र 24 घंटे 23 मिनट तक, तत्पश्चात् भरणी नक्षत्र व्यतिपात योग 08 घंटे 29 मिनट तक, तत्पश्चात् वरियान योग मेष में चंद्रमा।

सूर्योदय और सूर्यास्त
आज प्रदोष व्रत के दिन सूर्योदय प्रात:काल 06 बजकर 53 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 05 बजकर 24 मिनट पर होगा।
चंद्रोदय और चंद्रास्त
आज के दिन चंद्रोदय दोपहर में 03 बजकर 43 मिनट पर होगा। चंद्र का अस्त अगले दिन 28 नवंबर को प्रात:काल 04 बजकर 51 मिनट पर होगा।
आज का शुभ समय
अभिजित मुहूर्त: दिन में 11 बजकर 48 मिनट से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक।

सर्वार्थ सिद्धि योग: आज प्रात:काल 06 बजकर 53 मिनट से देर रात 12 बजकर 23 मिनट तक।

रवि योग: आज देर रात 12 बजकर 23 मिनट से अगले दिन 28 नवंबर को प्रात:काल 06 बजकर 54 मिनट तक।

अमृत काल: शाम को 04 बजकर 16 मिनट से शाम 06 बजकर 04 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 01 बजकर 54 मिनट से दोपहर 02 बजकर 36 मिनट तक।

आज कार्तिक शुक्ल द्वादशी है। आज शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी तथा शीतला माता की पूजा करनी चाहिए। माता लक्ष्मी का व्रत करने से सुख-समृद्धि प्राप्त होती है, वहीं शीतला माता आरोग्य प्रदान करती हैं। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here