संजय गांधी के साथ जेल जाने को कमलनाथ ने किया था ऐसा काम, इंदिरा कहती थीं ‘मेरा तीसरा बेटा’

0
7

कमलनाथ ने संजय गांधी के साथ जेल में रहने के लिए एक बार कागज का गोला बनाकर जज के ऊपर फेंक दिया था। गांधी परिवार से उनकी करीबी राजनीतिक गलियारों में हमेशा से चर्चा में रही है ।

New Delhi, Dec 15: मध्‍य प्रदेश के पूर्व सीएम और दिग्‍गज कांग्रेसी नेता कमलनाथ वर्तमान में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के ही नहीं बल्कि इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और संजय गांधी के भी काफी करीबी रहे हैं । गांधी परिवार से उनकी करीबी राजनीतिक गलियारों में चर्चा में रहती है, यही वजह रही कि 2019 में मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की तो कांग्रेस नेतृत्व ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की जगह कमल नाथ को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में  चुनाव किया। इस फैसले का कांग्रेस को बाद में खामियाजा भी उठाना पड़ा और प्रदेश सरकार गिर गई।

इंदिरा गांधी के तीसरे बेटे …
इंदिरा गांधी ने छिंदवाड़ा में आयोजित एक चुनावी जनसभा में कमलनाथ को अपना तीसरा बेटा कहा था। ये सभा 13 दिसंबर 1980 को हुई थी, इस दौरान केंद्र में जनता पार्टी सत्ता में थी । कांग्रेस फिर से अपना मुकाम पाने की जद्दोजहद में थी । सभा के दौरान कांग्रेस की तत्‍कालीन अध्यक्ष और पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने कमलनाथ की ओर इशारा करते हुए कहा था कि राजीव गांधी और संजय गांधी के बाद वो मेरे तीसरे बेटे हैं।

नौ बार चुने गए सांसद
वो पहला मौका था जब कमलनाथ चुनाव मैदान में थे । इंदिरा गांधी उनके लिए प्रचार करने मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा पहुंची थीं । उस बार कमलनाथ छिंदवाड़ा से पहली बार सांसद बने, उसके बाद से लगातार 2018 तक वो नौवीं बार छिंदवाड़ा से ही सांसद बनते रहे। जब तक इंदिरा जीवित रहीं वो  उन्हें ‘मां’ ही कहते रहे। इंदिरा के जाने के बाद वो संजय गांधी और राजीव गांधी के साथ रहे और उनके बाद सोनिया गांधी व राहुल गांधी विश्वासपात्र बने रहे।

संजय गांधी और कमलनाथ थे बेहद करीब
कमलनाथ और संजय गांधी की मुलाकात दून कॉलेज हुई थी, राजनीति में आने से पहले उन्होंने सेंट जेवियर कॉलेज कोलकाता से ग्रेजुएशन किया । संजय गांधी से उनकी दोस्ती राजनीतिक गलियारों में खूब मशहूर रही । आपातकाल के समय वो गांधी परिवार के साथ साये की तरह रहे । तब यह नारे भी लगे थे, इंदिरा के दो हाथ, संजय गांधी और कमलनाथ। 14 दिसंबर को संजय गांधी का जनमदिन था, इस मौके पर कमलनाथ ने ट्वीट किया कि उन्हें आज भी संजय गांधी की कमी खलती है। संजय गांधी की तस्‍वीर उनके ड्रॉइंग रूम में लगी हुई है। जिसके बारे में कमलनाथ ने एक बार कहा था कि इंदिराजी मेरी प्रधानमंत्री हैं, लेकिन संजय गांधी मेरे नेता थे और हमेशा रहेंगे। कमल नाथ एक बार संजय के लिए जानबूझकर जेल चले गए थे । घटना 1979 की है जब तत्‍कालीन सरकार ने संजय गांधी को एक मामले में कोर्ट ने तिहाड़ जेल भेज दिया, उनकी सुरक्षा के लिए इंदिरा परेशान थीं, जिसके बाद कमलनाथ जानबूझकर एक जज से लड़ गए, कागज का गोला बना कर उन पर फेंक दिया । जज ने उन्हें इस मामले में कोर्ट की अवमानना के चलते 7 दिन के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया, यहां वो संजय के साथ ही रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here