रायपुर : छत्तीसगढ़ में अब समर्थन मूल्य पर 25 लघु वनोपजों की खरीदी : राज्य शासन ने लिया महत्वपूर्ण फैसला


0

रायपुर. मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप वनवासियों के हित को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ में पहली बार 25 लघु वनोपजों की खरीदी करने के संबंध में अहम निर्णय लिया गया है। वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने बताया कि राज्य में पहले वर्ष 2018 तक मात्र 7 लघु वनोपजों की समर्थन पर खरीदी की व्यवस्था होती थी। नई सरकार द्वारा वनवासियों को बड़ी संख्या में रोजगार उपलब्ध करानेे के लिए समर्थन मूल्य पर खरीदे जाने वाले लघु वनोपजों की संख्या को बढ़ाकर 23 की गई, जिसे अब बढ़ाकर 25 तक कर दी गई है। इससे वनांचल में रहने वाले लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार मिलेगा। वहीं उनकी आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी।
वन मंत्री श्री अकबर ने बताया कि इन लघु वनोपजों की खरीदी में अब गिलोय तथा भेलवा को भी शामिल किया गया है। इसके पहले खरीदी की जाने वाली 23 लघु वनोपजों में साल बीज, हर्रा, ईमली बीज सहित, चिरौंजी गुठली, महुआ बीज, कुसुमी लाख, रंगीनी लाख, काल मेघ, बहेड़ा, नागरमोथा, कुल्लू गोंद, पुवाड़, बेल गुदा, शहद तथा फूल झाडू, महुआ फूल (सूखा), जामुन बीज (सूखा), कौंच बीज, धवई फूल (सूखा), करंज बीज, बायबडिंग और आंवला (बीज सहित) तथा फूल ईमली (बीज रहित) की खरीदी की जा रही थी। उन्होंने यह भी बताया कि राज्य सरकार द्वारा कुसुमी लाख, रंगीनी लाख और कुल्लू गोंद की खरीदी में समर्थन मूल्य के अलावा अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि भी दी जा रही है।
उल्लेखनीय है कि भारत सरकार द्वारा इन लघु वनोपजों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए पुनरीक्षित क्रय दर भी घोषित कर दिए गए हैं। लघु वनोपजों की पुनरीक्षित दरें एक मई 2020 से प्रभावशील हो गई है। इसके तहत पुनरीक्षित दरें ईमली बीज सहित 31 रूपए से बढ़ाकर 36 रूपए, महुआ बीज 25 रूपए से बढ़ाकर 29 रूपए, काल मेघ 33 रूपए से बढ़ाकर 35 रूपए, नागरमोथा 27 रूपए से बढ़ाकर 30 रूपए तथा बेल गुदा 27 रूपए से बढ़ाकर 30 रूपए प्रति किलोग्राम निर्धारित की गई है। इसी तरह शहद 195 रूपए से बढ़ाकर 225 रूपए, फूल झाडू 30 रूपए से बढ़ाकर 50 रूपए, महुआ फूल (सूखा) 17 रूपए से बढ़ाकर 30 रूपए, जामुन बीज (सूखा) 36 रूपए से बढ़ाकर 42 रूपए, कौंच बीज 18 रूपए से 21 रूपए, धवई फूल (सूखा) 32 रूपए से बढ़ाकर 37 रूपए तथा करंज बीज 19 रूपए से बढ़ाकर 22 रूपए प्रति किलोग्राम निर्धारित की गई है।
इसके अलावा बायबडि़ग 81 रूपए से बढ़ाकर 94 रूपए, आंवला (बीज रहित) 45 रूपए से बढ़ाकर 52 रूपए, फूल ईमली (बीज रहित) 54 रूपए से बढ़ाकर 63 रूपए, साल बीज 20 रूपए से 20 रूपए, चिरौंजी गुठली 109 रूपए से बढ़ाकर 126 रूपए, हर्रा 15 रूपए से 15 रूपए, बहेड़ा 17 रूपए से 17 रूपए और पुवाड़ (चरौटा बीज) 14 रूपए से बढ़ाकर 16 रूपए प्रति किलोग्राम निर्धारित की गई है। इनमें गिलोय 21 रूपए से बढ़ाकर 40 रूपए, भेलवा 8 रूपए से बढ़ाकर 9 रूपए प्रति किलोग्राम निर्धारित की गई है। इसके अलावा कुसुमी लाख 203 रूपए से बढ़ाकर 275 रूपए प्रति किलोग्राम भारत सरकार द्वारा निर्धारित की गई है। जिसमें छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 25 रूपए प्रति किलोग्राम की वृद्धि करते हुए 300 रूपए प्रति किलोग्राम की दर निर्धारित है। इसी तरह रंगीनी लाख 130 रूपए से बढ़ाकर 200 रूपए प्रति किलोग्राम भारत सरकार द्वारा निर्धारित की गई है, जिसमें छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 20 रूपए प्रति किलोग्राम की वृद्धि करते हुए 220 रूपए निर्धारित की गई है। इसके अलावा कुल्लू गोंद 98 रूपए से बढ़ाकर 114 रूपए प्रति किलोग्राम भारत सरकार द्वारा निर्धारित है, जिसे छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 11 रूपए प्रति किलोग्राम की वृद्धि करते हुए 125 रूपए निर्धारित की गई है।

SHOW FULL STORY

Like it? Share with your friends!

0